राष्ट्रपति भवन पर भीड़ का हुआ हमला, लोगों के दर से भागे गोटबाया राजपक्षे

गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका के हालात दिन-ब-दिन खराब होते जा रहे हैं. अब जानकारी मिल रही है कि हालात से त्रस्त प्रदर्शनकारियों की भीड़ ने शनिवार को राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के आवास को घेर लिया.

  • 533
  • 0

गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका के हालात दिन-ब-दिन खराब होते जा रहे हैं. अब जानकारी मिल रही है कि हालात से त्रस्त प्रदर्शनकारियों की भीड़ ने शनिवार को राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के आवास को घेर लिया. वहीं, उद्धृत कर बताया जा रहा है कि राष्ट्रपति राजपक्षे अपने आवास से भाग गए हैं. रक्षा सूत्रों ने राष्ट्रपति राजपक्षे के भागने का दावा किया है.


बताया जा रहा है कि शनिवार दोपहर को कोलंबो में राष्ट्रपति आवास को प्रदर्शनकारियों ने घेर लिया था. इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने राजपक्षे के सरकारी आवास पर भी पथराव किया. आपको बता दें कि श्रीलंका में गहराते आर्थिक संकट के बीच राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे के इस्तीफे की मांग को लेकर आज एक विरोध रैली निकाली जा रही है. श्रीलंका में शुक्रवार को अनिश्चितकालीन कर्फ्यू लगा दिया गया. श्रीलंकाई सेना को भी हाई अलर्ट पर रखा गया है. पुलिस प्रमुख चंदना विक्रमरत्ने ने कहा है कि राजधानी और उसके आसपास के इलाकों में शुक्रवार रात नौ बजे से कर्फ्यू लागू कर दिया गया है.

आंसू गैस के गोले दागे 

उन्होंने कहा कि हजारों की संख्या में सरकार विरोधी प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति को सत्ता से बेदखल करने के लिए शुक्रवार को कोलंबो में दाखिल हुए थे, जिसके बाद कर्फ्यू लगाने का फैसला लिया गया. शुक्रवार को पुलिस ने कर्फ्यू लगाने से पहले कोलंबो में छात्र प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले दागे और पानी की बौछारें कीं. बताया जा रहा है कि सरकार विरोधी प्रदर्शनों में धार्मिक नेता, राजनीतिक दल, शिक्षक, किसान, डॉक्टर, मछुआरे और सामाजिक कार्यकर्ता शामिल हैं.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT