Mahavir Jayanti 2021: महावीर जंयती के खास मौके पर आप अपनों को दें कुछ तरह से शुभकामनाएं

अहिंसा, सत्य, अपरिग्रह जैसे अनमोल विचार देने वाले भगवान महामीर की जयंती आज रविवार को मनाई जा रही है. इस उत्सव के खास मौके पर नीचे दिए संद्शों के द्वारा आप अपनों को कुछ इस अंदाज में शुभकामनाएं दे सकते हैं.

  • 2611
  • 0

अहिंसा, सत्य, अपरिग्रह जैसे अनमोल विचार देने वाले भगवान महामीर की जयंती आज रविवार को मनाई जा रही है. जैन धर्म के लोग महावीर जयंती का पर्व भगवान महावीर के जन्म के अवसर पर मनाते हैं. जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर की प्रेममयी स्मृति में दुनिया भर में जैन धर्म का अनुसरण करने वाले लोग इस दिन को बड़े ही हर्षोउल्‍लास के साथ मनाते हैं. भगवान महावीर जैन धर्म के अंतिम आध्यात्मिक गुरु थे. ग्रेगोरियन कैलेंडर के अनुसार, महावीर जयंती मार्च या अप्रैल के महीने में मनाई जाती है. वही इस बार महावीर जयंती 25 अप्रैल को मनाई जा रही है.

ये भी पढ़े:महाकाल की नगरी उज्जैन में कोरोना मरीजों के अधजले शवों को खा रहे है कुत्ते, जमीन पर जल रहीं चिताएं

जानिए महावीर जयंती का इतिहास और महत्व 

भगवान महावीर स्वामी का जन्म चैत्र मास के 13वें दिन यानी तेरस को बिहार के कुंडग्राम/कुंडलपुर वैशाली में हुआ था.जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर भगवान महावीर को वर्धमान नाम से पहले पहचाना जाता था. भगवान महावीर का जन्म 6वीं शताब्दी ईसा पूर्व राजा सिद्धार्थ और रानी त्रिशला के यहां हुआ. बचपन से ही भगवान महावीर काम मन ध्यान और धर्म में बहुत लगता था. भगवान महावीर ने 30 वर्ष की आयु में उन्होंने सांसरिक मोह त्‍याग कर आध्यात्मिक मार्ग अपनाते हुए अपना राज्य, सिंहासन सब कुछ त्‍याग दिया था. इस उत्सव के खास मौके पर नीचे दिए संद्शों के द्वारा आप अपनों को कुछ इस अंदाज में शुभकामनाएं दे सकते हैं. 

- महावीर जयंती 2021 पर शुभकामना संदेश व्‍यक्ति अपने विचारों से निर्मित एक प्राणी है वह जो सोचता है वही बन जाता है. महावीर जयंती की हार्दिक शुभकामना.


 - आपकी आत्‍मा से परे कोई भी शत्रु नहीं है, असली शत्रु आपके भीतर रहते हैं, वो शत्रु क्रोध, घमंड, लालच, अ‍शक्ति और नफरत है. महावीर जयंती की अनंत शुभकामना. 


 - अहिंसा सबसे बड़ धर्म है। स्‍वयं जियो और दूसरों को जीने दो। यही सुख और शांति का मूल है. भगवान महावीर की जय. 

ये भी पढ़े:कोविड: बंगाल में मिला ट्रिपल म्यूटेंट मचा रहा हाहाकार, जानें इससे वैक्सीन पर क्या होगा असर


- अरिहंत की बोली , सिद्धों का सार , आचार्यों का पाठ साधुओं का साथ , अहिंसा का प्रचार, आपको महावीर जयंती की बधाई.


RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT