2020 से लेकर अब तक Coronavirus के चलते 1932 रेल कर्मचारियों की हुई मौत, रेलवे ने दी जानकारी

Indian Railway की ओर से एक ऐसा आकंड़ा जारी किया गया है, जिसने सभी लोगों को चिंता में डालने का काम कर दिया,

  • 1409
  • 0

देश में कोरोना (Coronavirus) के बढ़ते मामले के बीच भारतीय रेलवे ने एक बेहद ही अहम जानकारी दी है.  देश में हर दिन लगभग एक हजार रेलकर्मी (Indian Railway) कोरोना से संक्रमित पाए जा रहे है. पिछले साल से लेकर अब तक की बात की जाए तो 1952 लोगों की मौत हो चुकी है.


ये भी पढ़ें: Corona की नई Strain को लेकर Delhi Government ने इन दो राज्यों की एंट्री को किया सख्त

इस अहम चीज की जानकारी खुद रेल बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने दी है. उन्होंने अपनी बात रखते हुए कहा,"इस समय हम लोगों की मदद कर रहे हैं लेकिन हमारी हालात भी अच्छी नहीं है. रोजाना लगभग एक हजार कर्मचारी कोरोना वायरस से संक्रमित हो रहे हैं. पिछले साल से लेकर अबतक 1952 रेल कर्मियों की इस संक्रमण से मौत हो गई है.'

ये भी पढ़े:कोविड से बचने के लिए लोग कर रहे है देसी नुस्ख़ों का इस्तेमाल, हेल्थ को हो सकता है नुकसान

अपनी बात रखते हुए आगे सुनत शर्मा ने कहा, "हम अपने स्टॉफ का पूरा ख्याल रख रहे हैं. उन्हें आवश्यक मेडिकल सुविधा भी उपलब्ध करा रहे हैं. हमारी कोशिश है कि संक्रमित कर्मचारी जल्द ठीक हो जाएं, इसके लिए हमने बेड्स भी बढ़ाए हैं." उन्होंने आगे कहा, "रेल कर्मचारियों के साथ साथ उनके परिवारवालों की देखरेख करना भी हमारा फर्ज है. ऐसे में हमने अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट भी बनाए हैं. हाल ही में ऑल इंडिया रेलवे मेन फेडरेशन ने रेल मंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखकर कोरोना की वजह से मरनेवाले रेलकर्मियों के लिए 50 लाख रुपये मुआवजे की मांग की थी.


इन सबके अलावा हाल ही में रेल मंत्रालय के जरिए एक बयान जारी किया गया था, जिसमें कहा गया था कि देश के अलग-अलग हिस्सों में 68 ऑक्सीजन एक्सप्रेस के जरिए ऑक्सीजन पहुंचाई गई है. इस ट्रेन के जरिए महाराष्ट्र में 293 मीट्रिक टन, मध्य प्रदेश में 271 मीट्रिक टन, उत्तर प्रदेश में 1230 मीट्रिक टन, हरियाणा में 555 मीट्रिक टन, तेलंगाना में 123 मीट्रिक टन, राजस्थान में 40 मीट्रिक टन, और दिल्ली में 1,679 मीट्रिक टन ऑक्सीजन पहुंचाई गई है.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT