बिहार में मध्यावधि चुनाव हुआ तय, नीतीश कुमार और पासवान ने बंद कमरे में लिया फैसला

बिहार में नीतीश कुमार और पासवान की खुफिया मुलाकात मध्यावधि चुनाव की ओर संकेत कर रहे हैं. साथ ही दोनों के इस मुलाकात से कई सवाल भी उठ रहे हैं.

  • 611
  • 0

बिहार के सीएम नीतीश कुमार और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बंद कमरे में मुलाकात की जिसके बाद से सियासी हलचल तेज हो गई है. वहीं चिराग पासवान ने दावा किया है कि बिहार में मध्यावधि चुनाव होने वाले हैं.

यह भी पढ़ें:Jammu-Kashmir: तीर्थ यात्रियों के बस में लगी आग, 4 की मौत 22 घायल

जमुई पहुंचे पासवान

आपको बता दें कि, लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविलास और जमुई के सांसद चिराग पासवान अपने एक दिवसीय कार्यक्रम के तहत जमुई पहुंचे है. इस दौरान उन्होंने सीएम नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा कि 2025 में बिहार विधानसभा चुनाव नहीं होंगे, लेकिन उससे पहले मध्यावधि चुनाव होंगे. आपको बता दें कि जय शगुन वाटिका में एक सभा का आयोजन किया गया, जहां भाजपा से नाराज युवा भाजपा नेता राहुल भावेश को लोक जनशक्ति पार्टी में शामिल किया गया.

यह भी पढ़ें:Jammu-Kashmir: राहुल भट्ट की हत्या के बाद आक्रोशित 350 कश्मीरी पंडितो ने दिया इस्तीफा

राजनीति में उबाल

मिली जानकारी के अनुसार, इस दौरान पत्रकारों को संबोधित करते हुए चिराग पासवान ने कहा कि बताइए कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को आपने 2017 से 2022 तक कितनी बार विपक्ष के नेता से इस तरह मिलते देखा था. पहले भी इफ्तार दही चूड़ा कार्यक्रम होता था. आप कितनी बार मिले ? सात वृत्ताकार सड़क से पैदल आ सकते हैं तो पहले करीब रहते थे. ये सभी बातें बिहार में मध्यावधि चुनाव के संकेत दे रही हैं.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT